श्री विष्णु चालीसा

Shri vishnu chalisa विष्णु भगवान को हिन्दू धर्म में त्रिदेवों में से एक बताया गया, ब्रम्हा – विष्णु – महेश। ।।दोहा।। विष्णु सुनिए विनय सेवक की चितलाय । कीरत कुछ वर्णन करूं दीजै ज्ञान बताय ॥ ।।चौपाई।। ... Read More...

महामृत्युंजय मंत्र

Mantra of mahamrtujay महामृत्युंजय मंत्र को एक प्राण रक्षक और महामोक्ष मंत्र माना जाता है। कहा जाता है कि यह भगवान शिव का सबसे बड़ा मन्त्र है। जो व्यक्ति इस मंत्र को जपता है उस से मृत्यु को भी भय लगता है तथा वह ... Read More...

तुलसी विवाह कथा

Tulsi Vivah Katha in Hindi | सावर्णि मुनि की पुत्री तुलसी अपूर्व सुंदरी थी। उनकी इच्छा थी कि उनका विवाह भगवान नारायण के साथ हो। इसके लिए उन्होंने नारायण पर्वत की घाटी में स्थित बदरीवन में घोर तपस्या की। दीर्घ क... Read More...

प्रद्युम्न – कामदेव ने ही लिया था भगवान श्रीकृष्ण के पुत्र प्रद्युम्न के रूप में जन्म

Krishna’s Son Pradyumna Hindi Story : कामदेव ने ही, श्रीकृष्ण के पुत्र प्रद्युम्न के रूप में जन्म लिया था। आइए जानते है इससे सम्बंधित रोचक पौराणिक कथा – भगवान शंकर के शाप से जब कामदेव भस्म हो गया तो उसकी पत्... Read More...

द्रोपदी जन्म कथा, आखिर कैसे मिले ! द्रोपदी को पांच पति ?

Dropdi Janam Katha : प्राचीन काल की बात है। नैमिषारण्य क्षेत्र में देवताओं का एक महान यज्ञ चल रहा था। यमराज ने यज्ञ में दीक्षा ले ली थी, इसलिए वे यज्ञीय पशुओं के अतिरिक्त और किसी का वध नहीं करते थे। इससे मर्त्य... Read More...

पुराणों में वर्णित शनि देव से जुड़े अदभुत रहस्य

Shani Dev Se Jude Adbhut Rahsya ; काशी-विश्वनाथ की स्थापना करी थी शनि देव ने :- स्कन्द पुराण में काशी खण्ड में वृतांत आता है, कि छाया सुत श्री शनिदेव ने अपने पिता भगवान सूर्य देव से प्रश्न किया कि हे पिता! मै ... Read More...

दीपावली की प्रतिपदा को करें:–पाँचवे वेद ” महाभारत की पूजा, फिर करें गोवर्धन पूजा

व्यास जी ने अर्जुन से कहा :— पूर्वकाल की बात है,तीन वलवान् असुरों ने आकाश में अपने नगर बना रक्खे थे । वे नगर विमान के रूप में आकाश में विचरा करते थे । उन तीन नगरों में एक लोहे का, दूसरा चाँदी का और तीसरा सोने क... Read More...