तुलसी विवाह कथा

Tulsi Vivah Katha in Hindi | सावर्णि मुनि की पुत्री तुलसी अपूर्व सुंदरी थी। उनकी इच्छा थी कि उनका विवाह भगवान नारायण के साथ हो। इसके लिए उन्होंने नारायण पर्वत की घाटी में स्थित बदरीवन में घोर तपस्या की। दीर्घ क... Read More...

अपने पुत्रों को ही नदी में बहाया था गंगा ने, पर क्यों?

हिन्दू धर्म में गंगा को सबसे पूजनीय नदी माना गया है। गंगा के संबंध में अनेक पुराणों में कई कथाएं पढ़ने को मिलती है। महाभारत के सबसे प्रमुख पात्र भीष्म भी गंगा के ही पुत्र थे। आज हम आपको गंगा से जुड़ी कुछ ऐसी रोचक... Read More...

द्रोपदी जन्म कथा, आखिर कैसे मिले ! द्रोपदी को पांच पति ?

Dropdi Janam Katha : प्राचीन काल की बात है। नैमिषारण्य क्षेत्र में देवताओं का एक महान यज्ञ चल रहा था। यमराज ने यज्ञ में दीक्षा ले ली थी, इसलिए वे यज्ञीय पशुओं के अतिरिक्त और किसी का वध नहीं करते थे। इससे मर्त्य... Read More...

ब्रह्मा जी के कहने पर महर्षि वाल्मीकि ने लिखी रामायण,  महर्षि वाल्मीकि से जुडी कुछ रोचक बातें

Facts of Maharshi Valmiki: वाल्मीकि को प्राचीन वैदिक काल के महान ऋषियों कि श्रेणी में प्रमुख स्थान प्राप्त है। पुराणों के अनुसार, इन्होंने कठोर तपस्या कर महर्षि का पद प्राप्त किया था। परमपिता ब्रह्मा के कहने पर... Read More...

मोहिनी और विष्णु भक्त रुक्मांगद की कहानी

Mohini Rukmangada Story : प्राचीन काल में रुक्मांगद नामक एक प्रसिद्ध सार्वभौम नरेश थे। भगवान की आराधना ही उनका जीवन था। वे चराचार जगत में अपने आराध्य भगवान हषीकेश के दर्शन करते तथा भगवान विष्णु की सेवा की भावना... Read More...

वराह अवतार कथा – जब हिरण्याक्ष का वध करने के लिए विष्णु बने वराह

Lord Vishnu Varaha Avatar Story in Hindi : एक बार ब्रह्मा जी के मानस पुत्र सनत-सनकादि भगवान विष्णु के दर्शन करने वैकुंठ धाम पहुंचे। वैकुंठ में विष्णु धाम के द्वार पर भगवान के दो पार्षद जय-विजय द्वारपाल के रूप म... Read More...