पौराणिक कथायें

राम नाम की महिमा

| Ram Naam Ki Mahima | – कबीर पुत्र कमाल की एक कथा हैं। एक बार राम नाम के प्रभाव से कमाल द्वारा एक कोढ़ी का कोढ़ दूर हो गया। कमाल समझने लगे कि रामनाम की महिमा मैं जान गया हूँ। कमाल के इस कार्य से किंतु कबीर जी ... Read More...

पंचमुखी हनुमान की कहानी – पंचमुखी क्यो हुए हनुमान?

Panchmukhi Hanuman Story – लंका में महा बलशाली मेघनाद के साथ बड़ा ही भीषण युद्ध चला. अंतत: मेघनाद मारा गया। रावण जो अब तक मद में चूर था राम सेना, खास तौर पर लक्ष्मण का पराक्रम सुनकर थोड़ा तनाव में आया। रावण को... Read More...

विभीषण से कर लेने घटोत्कच गया था लंका, भीम पुत्र घटोत्कच से जुडी रोचक जानकारी

Facts Of Ghatotkacha in Hindi: महाभारत में ऐसे अनेक पात्र हैं, जिनके बारे में लोग कम ही जानते हैं। ऐसा ही एक पात्र है भीम का पुत्र घटोत्कच। अधिकांश लोग ये जानते हैं कि घटोत्कच भीम व राक्षसी हिडिंबा का पुत्र था ... Read More...

सीता का नही, छाया सीता का हरण किया था रावण ने। कौन थीं छाया सीता?

अदभुत रहस्य:– बाबा तुलसी दास जी ने रामचरित्र मानस में लिखा है:———– लक्ष्मणहुँ यह मरम ना जाना । जा कुछ चरित रचा भगवाना ।।   || राम || वेदवती नाम की एक कन्या थी जो भगवान विष्णु की तपस्या कर ... Read More...

मोहिनी और विष्णु भक्त रुक्मांगद की कहानी

Mohini Rukmangada Story : प्राचीन काल में रुक्मांगद नामक एक प्रसिद्ध सार्वभौम नरेश थे। भगवान की आराधना ही उनका जीवन था। वे चराचार जगत में अपने आराध्य भगवान हषीकेश के दर्शन करते तथा भगवान विष्णु की सेवा की भावना... Read More...

महाभारत प्रसंग- जब एक स्त्री के देखने मात्र से काले हो गए थे युधिष्ठिर के पैरों के नाखून

Mahabharat Prasang in Hindi : शास्त्रों में महाभारत को पांचवां वेद कहा गया है। महाभारत की कथा जितनी बड़ी है, उतनी ही रोचक भी है। इसके रचयिता महर्षि कृष्णद्वैपायन वेदव्यास हैं। इस ग्रंथ में कुल एक लाख श्लोक हैं, ... Read More...

जब विष्णु जी और लक्ष्मी जी को बनना पड़ा अश्व और अश्वी

Lord Vishnu and Goddess Lakshmi Story : एक बार भगवान विष्णु वैकुण्ठ लोक में लक्ष्मी जी के साथ विराजमान थे। उसी समय उच्चेः श्रवा नामक अश्व पर सवार होकर रेवंत का आगमन हुआ। उच्चेः श्रवा अश्व सभी लक्षणों से युक्त, ... Read More...

जानिए किस कारण कुरुक्षेत्र में ही लड़ा गया था महाभारत का युद्ध?

Why fought Mahabharat war in Kurukshetra? महाभारत के अनुसार, भरतवंश में राजा कुरु ने जिस भूमि को बार-बार जोता, वह स्थान कुरुक्षेत्र कहलाया। राजा कुरु को देवराज इंद्र ने वरदान दिया था कि जो भी व्यक्ति इस स्थान प... Read More...

रेणुका तीर्थ- मान्यता है की यहां भगवान परशुराम से मिलने आज भी आती हैं मां रेणुका

Renuka ji, Himachal: History & Story in Hindi- मां-पुत्र के पावन मिलन का श्री रेणुका जी मेला हिमाचल प्रदेश के प्राचीन मेलों में से एक है। जो हर वर्ष कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की दशमी से पूर्णिमा तक उत्तरी भ... Read More...

शिव प्रतिमा के सामने ही क्यों विराजित होते है नंदी ?

Hindi Story of Lord Shiva and Nandi : आइए पढ़ते है भगवान शिव के वाहन नंदी से सम्बंधित एक कहानी जिससे हमें पता चलेगा की नंदी क्यों और कैसे महादेव की सवारी बनें? और शिव प्रतिमा के सामने ही क्यों विराजित होते है नं... Read More...